GST Ready India

GST Ready India’s Latest News and Updates

एक जुलाई से होगा जीएसटी लागु - जानिए क्या होगा सस्ता-महँगा - फायदे और नुकसान

Mar 01, 2017

वस्‍तु एवं सेवा कर(जीएसटी) एक जुलाई से लागू होगा : शक्तिकांत दास
आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने मंगलवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) सभी राज्यों में एक जुलाई से लागू होगा. दास ने संवाददाताओं से कहा, “जीएसटी एक जुलाई को लागू होगी. सभी राज्यों ने इस तारीख पर सहमति जताई है.” सरकार की योजना बजट सत्र के दूसरे भाग के लिए संसद की कार्यवाही नौ मार्च को शुरू होने से पहले जीएसटी परिषद की चार-पांच मार्च को होने वाली बैठक में आईजीएसटी (समेकित जीएसटी), सीजीएसटी (केंद्रीय जीएसटी) और एसजीएसटी (राज्य जीएसटी) मसौदों को मंजूरी दिलाने की है. यहां क्लिक करें

जीएसटी मॉडल कानून का मसौदा हुआ तैयार, काउंसिल की अगली बैठक 4 मार्च को
जीएसटी मॉडल कानून के मसौदे पर कानून मंत्रालय ने मुहर लगा दी है। जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक 4-5 मार्च को होगी
एक जुलाई, 2017 से बहु-प्रतीक्षित वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने की दिशा में एक और अहम पड़ाव पार होने वाला है। जीएसटी मॉडल कानून के मसौदे पर कानून मंत्रलय ने मुहर लगा दी है। अब जीएसटी काउंसिल 4-5 मार्च को होने वाली बैठक में इसे अंतिम रूप दे देगी। इसके बाद सरकार केंद्रीय जीएसटी के विधेयक को नौ मार्च से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में पेश कर पारित कराने का प्रयास करेगी। वहीं राज्य भी अपनी-अपनी विधान सभाओं में राज्य जीएसटी विधेयक को पारित कराने की प्रक्रिया शुरू कर सकेंगे। यहां क्लिक करें

जीएसटी लागू होने से आपको मिलेंगे ये 8 बड़े फायदे
भारत में जीएसटी बिल दोनों सदनों में पास हो गया है और आधे से अधिक राज्यों ने इसपर अपनी सहमति भी दे दी है। अब जीएसटी को जल्द ही लागू किया जाएगा उससे पहले पढ़ें जीएसटी से क्या है आम जनता को लाभ
गुड्स एंड सर्विस टैक्स (वस्तु और सेवा कर, जीएसटी) को भारत का सबसे अधिक बहुप्रतीक्षित कर सुधार माना जाता है। यह एक अप्रत्यक्ष कर सुधार है जो राज्यों के बीच से करों की सीमा को दूर करता है और एक एकल बाज़ार का निर्माण करता है। जीएसटी के तहत केवल मूल्य संवर्धन पर कर लगेगा और कर का बोझ अंतिम उपभोक्ता द्वारा वहन किया जाएगा। जीएसटी से होने वाले लाभों के बारे में जानें- यहां क्लिक करें

गरीबी दूर करने में जीएसटी मददगार साबित होगा, टैक्‍स नीतियों में स्थिरता की जरूरत
ग्‍लोबल थिंक टैंक आर्गनाइजेशन ऑफ इकोनामिक कोपरेशन एंड डेवलपमेंट (ओईसीडी) का मानना है कि नोटबंदी का असर भारत की अर्थव्‍यवस्‍था पर थोड़े समय के लिए पड़ेगा, लेकिन बाद में यह फायदेमंद साबित‍ होगा। इनकी तरफ से कराए गए इकोनामिक सर्वे ऑफ इंडिया में कहा गया है कि जीएसटी के लागू होने के बाद राजस्‍व में बढ़ोत्‍तरी होगी, जिससे गरीबी दूर करने के कार्यक्रमों को अच्‍छी तरह से चलाया जा सकेगा। साथ ही सरकार को सलाह दी गई है उसे कार्पोरेट टैक्‍स 25 फीसदी तक लाना चाहिए और टैक्‍स नीतियों में स्थिरता दिखनी चाहिए। सर्वे में अनुमान जताया गया है कि चालू वित्‍त वर्ष में जीडीपी 7 फीसदी रहेगी, जबकि अगले साल यह 7.3 फीसदी और वर्ष 2018-19 में बढ़कर 7.7 फीसदी हो जाएगी। यहां क्लिक करें

जानिए GST लागू होने के बाद क्या होगा सस्ता-महंगा
जीएसटी काउंसिल की बैठक में इस बात पर फैसला किया गया है कि 29 चीजों पर 5 फीसदी का जीएसटी लगेगा, जिनमें 19 चीजों पर लगने वाला टैक्स पहले से अधिक होगा, जबकि बची हुई 10 चीजों पर टैक्स कम होगा।
जीएसटी काउंसिल ने चार स्तरीय जीएसटी टैक्स संरचना तैयार की है, जिसमें 5 फीसदी, 12 फीसदी, 18 फीसदी और 28 फीसदी के टैक्स शामिल हैं। इससे जरूरी चीजों पर कम टैक्स और लग्जरी चीजों पर अधिक टैक्स लगाए जाने का प्रावधान है। ये दरें अलग-अलग सामान के लिए अलग-अलग हैं। इसकी वजह से कुछ चीजें पहले से सस्ती होंगी और कुछ महंगी। तो आइए जानते हैं ये दरें लागू होने के बाद क्या होगा सस्ता और क्या होगा महंगा। यहां क्लिक करें

Tags: Benefits of GST, GST 2017, GST Bill, GST Implementation, GST in Hindi, GST India, GST News, GST Updates, Impact of GST

%d bloggers like this: